उत्तर प्रदेशएजुकेशनकल्चरल & इवेंटगोरखपुरगोरखपुर मंडलडेवलपमेंटशिक्षास्वास्थ्यहेल्थहेल्थ टिप्स

जरूरतमंदों को राशन सामग्री देने के साथ-साथ शिक्षा व चिकित्सा में रूपाली का नहीं है तोड़

po
1
Vishnushankarjwelers
vishnu
download_20200919_124217

यूं तो आपको हर जगह पर नाॅन गवर्ममेंट आर्गनाइजेशन में काम करने वाले मिल जाएंगे। लेकिन हकीकत में ग्राउंड लेवल पर काम करने वाले आपको कम ही मिलेंगे। ऐसे ही हमारे बीच में यशस्विनी आर्गनाइजेशन की संस्थापिका और संचालिका रूपाली शर्मा हैं जो बताती हैं कि उनका सपना था कि वह अपने एरिया में गरीब, असहाय की मदद करें, चाहे चिकित्सा के क्षेत्र में हो या फिर शिक्षा। हर जरूरतमंदों को उनके आवश्यकतानुअसार उनकी सेवा भाव से जु़ड़े रहना, वह ही सुकुन देता है I

रूपाली बताती हैं कि कोरोना पेंडेमिक में वह ग्रामीण स्तर के लोगों के बाच जाकर कोरोना वायरस संबंधित जानकारियों को देती हैं। साथ ही साथ हर वर्ग के लोगों को अवेयर करती हैं। इसके अलावा जो जरूरतमंद परिवार हैं। उन तक राशन सामग्री पहुंचाने का काम करती हैं। अब तक सैकड़ों लोगों तक राशन सामग्री पहुंचा चुकी हैं। रूपाली बताती हैं कि मास्क, साबुन व सेनेटराइज जरूरतमंदों तक पहुंचाना उनका लक्ष्य रहा। महिलाएं इस विपरीत परिस्थिति में रोगग्रस्त ना हो इसके लिए उन सभी जरूरतमंद महिलाओं तक फ्री सैनेट्री नैपकिन वितरण करना उनके रूटीन में शामिल है।

बिहार के खबरा मुजफ्फरपुर की रहने वाली रूपाली बताती हैं कि बहुत सी महिलाओं तक सैनेट्री नैपकिन वितरण करने के बाद भी डिमांड पहले के मुकाबले बढ़ चुकी हैं। इसी प्रकार जरूरतमंद बच्चों के बीच कॉपी, किताबें एवं अन्य पठन पाठ्य सामग्री वितरण करना वह नहीं भूलती। इस विपरीत परिस्थिति में बच्चे पठन पाठन सामग्री के कारण उनकी पढ़ाई न रूके, इसके लिए हर बच्चे को उसकी डिमांड को भी पूरा करने का प्रयास करती है।

रूपाली ग्रामीण स्तर पर लगने वाले दुकाने, सब्जी बाजार तक पहुंचकर लोगों को जागरूक करना उनका दिनचर्या में शामिल हो चुका है। असहाय एवं वृद्ध बीमार लोगों को स्वास्थ्य खराब होने पर उन्हें चिकित्सालय पहुंचाने से पीछे नहीं हटती। कोरोना पेंडमिक में कैसे बचाव करें। इसके लिए लोगों से बचने के लिए इम्यूनिटी बढ़ाने के लिए सोशल साइट्स के जरिए फ्री ऑफ कास्ट ऑनलाइन योगा क्लास सभी लोगों के लिए शुरू कर चुकी है। महिलाओं एवं लड़कियों के लिए ऑनलाइन आर्ट एंड क्राफ्ट की ट्रेनिंग शुरू की गई है ताकि लॉक डॉन के बाद महिलाएं स्वरोजगार शुरू कर सके।

महिलाओं और लड़कियों का संगठन बनाकर राखी और मास्क निर्माण का कार्य शुरू किया गया है ताकि जुरी हुई सभी महिलाएं आत्मनिर्भर बन सकें। इसी तरह हम सब साथ मिलकर लगातार सभी तरह के लोगों को सभी तरह की जरूरतें पूरा करने में इस विपरीत परिस्थिति में लगी हुई है।

we also work on environmental issues like pollution. We have our own campaign on this topic among village girls and womens.
We have been awarded to so many orgenizaon for this work.

  • Kalam youth and leadership award -2019
  • Rashtriya samman -2019
  • Gandhi leadership award -2019
  • Karmveer chakra -2019

Linkedin id :- https://www.linkedin.com/in/rupali-sharma-737/ba/ba.
Instagram id :- @rupalisharmaroop.
Facebook id :- http://m.facebook.com/wasu/wasu.5494.
Contact no :- +919931514708
Email id :- rupalisharmaroop@gmail.com

Related Articles

Back to top button
English English Hindi Hindi
Close